बच्चेदानी निकलवाने के नुकसान (disadvantages of uterus removal in hindi): बच्चेदानी निकलवाने के नुकसान के बारे में अगर आपको नहीं पता है तो इस पोस्ट आपके लिए फायदेमंद रहेगा आज हम आप लोगों को अपने इस आर्टिकल के माध्यम से बताने वाला हूं कि बच्चेदानी निकलवाने के नुकसान जैसे कि आप सभी लोग जानते ही होंगे कि बच्चेदानी निकलवाने की जो सर्जरी की जाती है वह बहुत ही कॉमन हो गई है जैसे समय में परिवर्तन हो रहा है उसी प्रकार से सर्जरी है वह काफी ज्यादा एडवांस लेबल पर पहुंच जाएगी क्योंकि जैसे कि पहले पेट चीरकर बच्चेदानी को निकाला जाता था और अब आज के समय में दूरबीन के द्वारा बच्चेदानी को निकाल दिया जाता है पहले की कंपैरिजन मैं देखा जाए तो इस समय की जो बच्चेदानी की सर्जरी है वह बहुत ही अच्छा है लेकिन सर्जरी तो सर्जरी है और किसी भी तरह से किया जाए परंतु कुछ दिक्कत तो का सामना करना पड़ेगा ही तो बता दूं कि पहले के जमाने में पेट को चीर कर बच्चेदानी निकाल लिया जाता था बाद में टांका कर दिया जाता था अब ऐसा नहीं है यह दूरबीन के द्वारा बच्चेदानी को निकाला जाता है लेकिन फिर भी थोड़ी बहुत समस्या आपको देखने के लिए मिल जाती है

यहां पर हम आपको बता दूं कि इसका नुकसान कम होगा तो पहले चलिए बताते हैं कि गर्भाशय निकालने के बाद आसपास के अंगों में चोट लगने की संभावना बढ़ जाती है दरअसल महिला का गर्भाशय फैलोपियन ट्यूब , आंतों, पेल्विक मसल और अंडाशय जैसे अंगों से घिरा होता है ऐसे में शरीर से यूट्रस को हटाने की प्रक्रिया में आपस के अंगों को बहुत ही ज्यादा नुकसान होता है तथा कुछ ही नुकसान देखने के लिए मिलता है तो इसका यही ही नुकसान देखने के लिए मिलता है तो हमारे इस पैराग्राफ के माध्यम से आपको 10 % की जानकारी प्राप्त कराई गई है अभी 90% की जानकारी बाकी है तो इस पैराग्राफ को पढ़ते रहे तथा इस पूरे पोस्ट को पढ़ते रहें

बच्चेदानी के ऑपरेशन के बाद सावधानी (Caution after uterine surgery)

यहां पर हम आपको बता दूं कि बच्चेदानी के ऑपरेशन के बाद कौनसे आपको सावधानी बरतनी पड़ेगी तो हम आपको बता दूं कि अपने आहार में जरूर सावधानी बरतनी पड़ेगी क्योंकि बच्चेदानी निकलवाने के बाद विटामिन डी युक्त पदार्थों का सेवन करना बहुत ही ज्यादा जरूरी होता है जिससे आप फायदेमंद भी रह सकते हैं तो चलिए हम आपको बताते हैं कि मैं आपको कौन-कौन से हार करना चाहिए तो हरी सब्जी खानी चाहिए और भी दूध पनीर इन सभी पोषक तत्वों को शामिल करके सेवन करना चाहिए इससे आपको विटामिन बहुत ही बेहद मात्रा में प्राप्त होता है तो अगर आप हरी सब्जी भी दूध पनीर इनका सेवन करते हैं तो आपको बहुत ही ज्यादा फायदेमंद है और बच्चेदानी के ऑपरेशन के बाद भी आपको कोई भी दिक्कत तथा कोई भी परेशानी नहीं होगी

एक्सरसाइज करें हम आपको बता दूं कि एक्सरसाइज आपको कैसे करना है तो हम आपको बता दूं कि बच्चेदानी निकलवाने के बाद 2 से 3 हफ्ते बीतने पर रोज सुबह बाहर घूमने एवं हटाने के लिए जाए और शाम को भी यही प्रकार के करें मतलब घूमने जाएं और टालने जाए और आपके शरीर में तेजी से हवा आपको मिल सके और आपके शरीर में मजबूती आप आ जाए और चलने की क्षमता भी बढ़ जाए तो इसी प्रकार अब को सुबह या शाम दोनो टाइम में आपको टहलने जाना होगा और देखा जाता है कि जब दो से तीन हफ्ते बीतने के बाद में अगर आप दो से तीन हफ्ते बच्चेदानी निकलवाने के बाद में तब जाकर आप शाम या सुबह टहलने जाए आप फायदेमंद भी रह सकते हैं

  • आहार में ध्यान दें बच्चेदानी निकलवाने के बाद विटामिन युक्त पदार्थों का सेवन करना बेहद जरूरी होता है जैसे की हरी सब्जियां गी दूध पनीर इन सभी पोषक तत्वों को शामिल करें अपने डाइट्स में
  • एक्सरसाइज करें बच्चेदानी निकलवाने के बाद 2 से 3 सप्ताह बीतने पर रोज सुबह बाहर घूमना टहलना शाम को भी घूमने टहलना जिससे ताजी हवा आपको मिल सके और आपके शरीर में मजबूती आए चलने की क्षमता बढ़े
  • ढीले कपड़े पहने बच्चेदानी निकलवाने के बाद ढीला कपड़ा पहनना बेहद फायदेमंद होता है क्योंकि बच्चेदानी को पेट के ऊपर है पेट के निचले हिस्से फाड़कर दूरबीन द्वारा करते हैं अगर इसी में कोई महिला टाइट कपड़ा पहनती है तो उसके शरीर पर दुष्प्रभाव पड़ सकता है इसीलिए बच्चेदानी निकलवाने के बाद दिला कपड़ा पहना जाता है
  • सेक्स न करें बच्चेदानी निकलवाने के बाद बहुत सी महिलाएं ऐसी होती हैं जो बच्चेदानी निकालने के कुछ ही दिन बीतने पर वो शख्स करना चालू कर देते हैं जिससे उनके शरीर पर कुछ दुष्प्रभाव पड़ जाते हैं जिससे उन्हें कई प्रकार की दिक्कतों का सामना करना पड़ जाता है इसीलिए बच्चेदानी निकलवाने पर शख्स से से 7 सप्ताह बीतने पर भी करना चाहिए
  • तनाव न ले बच्चेदानी निकलवाने के बाद अगर कोई महिला तनाव लेती है तो तो शरीर में बीमारियां बढ़ सकती हैं जिससे कई प्रकार की दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है इसीलिए तनाव बिल्कुल भी नाले बच्चेदानी का ऑपरेशन कराने के बाद

यहां पर आपको एक सावधानी भी बरतनी पड़ेगी जो वह सावधानी है ढीले कपड़ा पहने बहुत ही आपको जरूरी होगा अगर आप भी ले कपड़ा पहनते हैं बच्चेदानी निकलवाने के बाद में तो बेहद फायदेमंद रहेगा तो हम आपको बता दूं कि यह बच्चेदानी को पेट के ऊपर से फाड़कर नीचे वाले हिस्से फाड़कर दूरबीन द्वारा करते हैं तो इसीलिए हम आपको बता दूं कि जो महिला टाइट टाइट कपड़ा पहनती है तो शरीर पर दुष्प्रभाव पड़ता है इसीलिए हम आपको बता दूं कि बच्चेदानी निकलवाने के बाद में आपको डीलर कपड़ा पहनना बहुत ही आवश्यक एवं जरूरी माना जाता है अगर आप भी ले कपड़ा पहनते हैं तो इससे आप फायदेमंद ही रहेंगे क्योंकि आपको यह जो शरीर है वह टाइट नहीं रहेगा इसीलिए हमारा कहने का मतलब है कि आप ढीले कपड़ा पहने

यहां पर आपको बच्चेदानी निकलवाने के बाद में एक और सावधानी बरतनी पड़ेगी सेक्स ना करो देखो बताओगे गो टो सी महिला बच्चेदानी निकलवाने के कुछ ही दिन बाद सेक्स करना चालू कर देते हैं जिसके शरीर पर कुछ प्रदूषित प्रभाव पड़ जाता है जिससे उनको बहुत ही दिक्कत अच्छा बहुत ही परेशानी का सामना भी करना पड़ता है तो इसीलिए हम आपको बता दूं कि बच्चेदानी निकलवाने पर सेक्स से 7 हफ्ते बीतने पर भी आप करना चाहिए और जब 7 हफ्ते बीत जाए तो अगर आप करते हैं तो इससे आप फायदेमंद रहेंगे नहीं तो कुछ ही दिन बीतने पर अगर आप करते हैं तो आपको बहुत सारी दिक्कत परेशानी का सामना करना पड़ेगा और दूषप्रभाव पर भी पड़ सकता है

बच्चेदानी निकलवाने के बाद (after uterus removal)

बच्चेदानी निकलवाने के बाद में यहां पर आप देखें जो कि आपको काफी ज्यादा अच्छी तरह से बताई गई है कि बच्चेदानी निकलवाने के बाद में आपको क्या करना चाहिए या नहीं करना चाहिए यहां पर आप देखिए किसी भी अन्य सर्जरी की तरह यूट्रस को निकालने में दर्द का एहसास होता है हालांकि इसकी तीव्रता और अवधि सी बात पर निर्भर करती है कि आप किसी प्रकार की लैप्रोस्कोपिक प्रक्रिया का चयन नहीं करना चाहिए और वजाइनल हिस्टेरेक्टॉमी के मामले में ज्यादातर महिलाओं को 2 से 3 हफ्ते तक दर्द की शिकायत करती है इसी प्रकार देखा जाता है कि कृपया आप इन सभी बातों का ध्यान रखें जो बातें हमने आपको बताया है तो हमारे इस पैराग्राफ के माध्यम से आपको 20 % की जानकारी बताई गई है अभी 80% पर्सेंट की जानकारी बाकी है तो आप 80 % की जानकारी बहुत ही आसान तरफ से प्राप्त कर सकते हैं

हिंदी में अंडाशय और गर्भाशय हटाने साइड इफेक्ट

हिंदी में अंडाशय गर्भाशय हटाने से साइड इफेक्ट के बारे में यहां पर आपको देखने के लिए मिल जाता है तो पहला साइड इफेक्ट देखने के लिए आपको मिलता है सूजन और जलन होना जो कि हम आपको बता दूं कि सूजन और जलन भी हो सकता है उनके जैसा कि घर व्यास है कि सर्जरी होने के बाद श्रेणी क्षेत्रों में जहां पर चीन के पास सूजन और जलन की समस्या भी हो सकती है और कुछ महिलाओं को खुजली भी होने लगती है जिससे उनको बहुत ही दिक्कत या परेशानी का सामना ही करना पड़ता है तो हमारी साथ बने रहे और इसी प्रकार की जानकारियां प्राप्त करते रहें तथा आप इन सभी जानकारियों के बारे में ऐसी ही बनी रहे

प्ले हम आपको यहां पर बताना चाहता हूं दूसरा साइड इफेक्ट के बारे में जो अधिक बिल्डिंग हो सकता है जैसा कि हम आपको बता दूं कि आप लोग जानते ही होंगे कि पीरियड के दौरान महिला यानी कि इसे उपयुक्त सर वो तो देखिए सकती है हालांकि यह लगभग 5 से 7 दिन तक होता है इसी दौरान महिला सेनेटरी पैड्स जैसा कि हम आपको बता दूं कि हमारे इस पैराग्राफ के माध्यम से आपको 30 पर्सेंट की जानकारी दे चुका है अभी आपको 70 पर्सेंट की जानकारी बाकी है तो आप इस पैराग्राफ को पढ़ते रहें और कुछ ऐसी ही नई नई जानकारियां प्राप्त करते रहें

  • सूजन और जलन जैसे की गर्भाशय हटाने की सर्जरी के बाद श्रोणि क्षेत्र या चीरे के पास सूजन और जलन की समस्या हो सकती है। कुछ महिलाओं में खुजली, सुन्न होना, और टांके की आस-पास की स्किन लाल हो सकती है।
  • अत्यधिक ब्लीडिंग आप लोग जानते हैं रिकवरी पीरियड के दौरान महिला योनि से रक्तस्त्राव देख सकती है। हालांकि, यह लगभग 5 से 7 दिनों तक होता है। इस दौरान महिला सेनेटरी पैड्स का इस्तेमाल कर सकती है।
  • पेल्विक अंगो का प्रोलैप्स होना मैंने आप लोगों को गर्भाशय हटाने की सर्जरी के बाद श्रोणि क्षेत्र के अंग अपनी जगह से आगे बढ़ सकते हैं। सर्जरी के बाद तीन साल तक पेल्विक अंगों के प्रोलैप्स होने का खतरा लगभग 1% रहता है। वजाइनल प्रोलैप्स का खतरा अधिक रहता है।
  • रजोनिवृत्ति आप लोग जानते हैं भले ही ओवरी को न हटाया गया हो, गर्भाशय हटने के बाद महिला जल्द ही मेनोपाज की अवस्था में प्रवेश कर जाती है। अगर शरीर से गर्भाशय बस निकाला गया है और अंडाशय को छोड़ दिया गया है तो पीरियड साइकिल जारी रहता है। महिला ब्लीड नहीं करती है, लेकिन प्रीमेनस्ट्रुअल सिंड्रोम के लक्षण नजर आ सकते हैं।
  • पेल्विक फ्लोर डिसफंक्शन मैंने आप लोगों को गर्भाशय हटाने की सर्जिकल प्रक्रिया के दौरान अगर स्फिंकटर मांसपेशियों में चोट लग गई तो इससे पेल्विक फ्लोर डिसफंक्शन हो सकता है। महिला पेल्विक मांसपेशियों पर से अपना नियंत्रण खो सकती है जिससे कब्ज, मल त्याग के दौरान खिंचाव और दर्द, आंत में इन्फेक्शन हो सकता है। गर्भाशय हटाने का यह लॉन्ग टर्म साइड इफेक्ट है।
  • इमोशनल साइड इफेक्ट्स जैसे कि मैंने आप लोगों को गर्भाशय प्रत्येक महिला के माँ बनने में एक प्रमुख भूमिका निभाता है। गर्भाशय का हटना मतलब आप इसके बाद कभी माँ नहीं बन सकती हैं। इसके बाद आपके पीरियड्स भी बंद हो जाएँगे। यह आपको थोड़ी उत्साहित कर सकता है, लेकिन एक छोर पर आपकी मातृत्व खत्म हो जाती है
  • एनेस्थीसिया का प्रभाव क्या हो सकते हैं सर्जरी के बाद भी एनेस्थीसिया का प्रभाव रहता है जिससे आपको चक्कर आना, ठंड लगना, थरथराना, खुजली, सिर दर्द, और पेशाब करने में समस्या हो सकती है।

बच्चेदानी निकालने के बाद मां बन सकती है (Can a mother become a mother after removing the uterus)

यहां पर हम आपको बताना चाहता हूं कि बच्चेदानी निकलवाने के बाद मां बन सकती है या नहीं तो हम आपको बता दूं कि नहीं क्योंकि एक बार अगर कोई बच्चेदानी निकला देता है तो वह मां नहीं बन सकती है जब 32 साल की महिला में गर्भाशय ट्रांसप्लांट के बाद मां बंटी थी दरअसल महिला का जन्म बिना गर्भाशय क्या हुआ था जिसके वजह से वह मां नहीं बन सकती थी डॉक्टर ने उनसे कहा कि सिर्फ आईवीएफ के जरिए ही मां बन सकती है वरना वह नहीं बन सकती है तो इसीलिए हम आपको बता दूं कि अगर एक बार बच्चेदानी निकला लेते हैं तो कृपया आप मन ही बोल सकते अगर आपकी मां बनने की सपना है तो पहले से आपको बच्चेदानी में कुआं दिया गया था तो हमारे इस पैराग्राफ के माध्यम से आप खुद जानते हो कितना परसेंट की जानकारी दी गई तो आपको 40 पर्सेंट की जानकारी प्राप्त करा दिया वह भी 60 पर्सेंट की जानकारी प्राप्त करना बाकी है

बच्चेदानी निकलवाने का वीडियो

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

बच्चेदानी निकलवाने के बाद मां बन सकती है

एक बार बच्चेदानी निकलवा दिया जाता है तो वह मां नहीं बन सकती है

बच्चेदानी निकलवाने के बाद में आपको कौन सा आहार करना चाहिए

बच्चेदानी निकलवाने के बाद में आपको हरी सब्जी भी दूध पनीर का सेवन करना चाहिए जिससे आप फायदा मंद है सकते हैं